google-site-verification=dCpXFYL0M_Z835WKryUkqtFobns-FEoO78FXyXmp1Pk google-site-verification=dCpXFYL0M_Z835WKryUkqtFobns-FEoO78FXyXmp1Pk
 

शेयर बाय बैक क्या होता है और उसके फायदे क्या होते हैं?


शेयर बाय बैक क्या होता है और उसके फायदे क्या होते हैं?

कंपनी शेयर इश्यू करती है ताकि वह निवेशकों को आकर्षित कर सके और उन्हें ओनरशिप दे सके । लेकिन अक्सर कंपनी यह निर्धारित करती है कि वह इश्यू किए हुए शेयर वापिस खरीद ले यानी कि बाय बैक कर ले । तो यह शेयर बाय बैक क्या है? (what is Buy Back of shares)

जब कंपनी अपने इश्यू किए हुए शेयर वापस खरीद लेती है तो उसी को ही शेयर का बाय बैक बोलते हैं (what is Buy Back of shares). कई कारणों में से एक कारण (reasons for buyback of shares) यही भी होता है की कंपनी यह निर्णय लेती है कि वह मार्केट में से जो आउटस्टैंडिंग शेयर है उन्हें कम करें और जो कंपनी की ओनरशिप है वह वापस स्थापित कर ले। जो आउटस्टैंडिंग शेयर कंपनी मार्केट में यीशु करती है उसकी वजह से शेयर होल्डर की ओनरशिप में बढ़ती है ।


कंपनी ऐसा समझती है कि उसके शेयर की कीमत ज्यादातर डिस्काउंट हो चुकी है और अपना फाइनेंशियल रेशियो यानी कि वित्तीय अनुपात वह संतुलित करना और सुधारना चाहती है ।


इसके अलावा, शेयर के बाय बैक के लिए कंपनी के पास कई कारण हो सकते हैं (reasons for buyback of shares)। यदि शेयरों का मूल्य बढ़ता है, या दो या फिर उससे अधिक कंपनियों का विलय और अधिग्रहण (समेकन)। हर एक के पास एक स्पष्ट विचार होना चाहिए कि आखिर शेयर का बाय बैक क्या होता है (what is Buy Back of shares) जब स्टॉक मार्केट में या फिर निश्चित स्टॉक मार्केट के शेयर में ट्रेडिंग करते हैं ।


कंपनी दरअसल शेयर होल्डर को नकद देती है शेर को बाय बैक करने के लिए ।


शेयर के बाय बैक के कारण क्या होते हैं? (What are the reasons for buyback of shares?)

कंपनी जो स्टॉक मार्केट में आउटस्टैंडिंग शेयर होते हैं और जो कंपनी की ओनरशिप को बढ़ाते हैं तो उनके नंबर को कम करने में कंपनी इच्छुक हो सकती है। तो बाय बैक एक रास्ता है जिससे ओनरशिप को कम किया जाता है और बाजार के हिस्से को कंपनी फिर से हासिल कर सकती है ।


एक और कारण है जिसकी वजह से कंपनी मर्जर या एक्विजिशन यानी कि विलय और अधिग्रहण करती है जिसे कंसोलिडेशन यानी कि "समेकन" कहा जाता है । उसकी वजह से कंपनी बाय बैक करती है । दूसरे कारण शेयर को बाय बैक करने के (reasons for buyback of shares) इक्विटी की वैल्यू की बढ़ोतरी हो सकती है या फिर कंपनी अगर मार्केट में खुद को आर्थिक तौर पर मजबूत दिखाना चाहती है ।

शेर बाय बैक के क्या फायदे हैं? (What are the buy back of shares advantages?)

कंपनी शेयर बाय बैक करती है क्योंकि शेयर बाय बैक के कई फायदे हैं । (buy back of shares advantages)

शेयर बाय बैक के कई फायदे (buy back of shares advantages) में से एक फायदा टैक्स में लाभ का है । अगर डिविडेंड टैक्स रेट से तुलना की जाए तो कैपिटल गेन टैक्स मतलब पूंजी में टैक्स का लाभ कुछ देशों में कम होता है । यही कारण की वजह से निवेशक कैश डिविडेंड के बजाय शेयर बाय बैक करना ज्यादा पसंद करते हैं ।


बाय बैक का दूसरा एक फायदा यह है कि वह फ्लैक्सिबिलिटी प्रदान करता है । बाय बैक तुरंत नहीं होता लेकिन एक समय समय की अवधि के साथ बढ़ाया जाता है । शेयर को दोबारा खरीदने का कोई ऐसा जरूरी या अनिवार्य कारण नहीं है। बाय बैक दोनों तरह से काम करता है क्योंकि शेयरधारक से पूछे जाने पर उसे कंपनी को अपने शेयर वापस देने की आवश्यकता नहीं होती है ।


241 views0 comments

Recent Posts

See All